पूरे बिहार मे वैश्य समाज के साथ हो रहे आपराधिक घटनाओं के विरोध में राष्ट्रीय वैश्य महासभा ने आज मुह पे काला पट्टी बांध मनाया काला दिवस। - ApnaLive.News

पूरे बिहार मे वैश्य समाज के साथ हो रहे आपराधिक घटनाओं के विरोध में राष्ट्रीय वैश्य महासभा ने आज मुह पे काला पट्टी बांध मनाया काला दिवस।

Spread the love

पूरे बिहार मे वैश्य समाज के साथ हो रहे आपराधिक घटनाओं के विरोध में राष्ट्रीय वैश्य महासभा, बिहार द्वारा आज 12: 30 बजे दिन से प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर पुरे बिहार में राज्यव्यापी कार्यक्रम के तहत मुंह पर काला पट्टी बांध कर पुनाईचक स्थित कन्हैया पौद्दार जी के आवास पर सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए काला दिवस मनाया गया । काला दिवस कार्यक्रम की नेतृत्व राष्ट्रीय वैश्य महासभा के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष पी के चौधरी ने की।


पटना मे पूर्व मंत्री व विधान पार्षद रामचंद्र पूर्वे, मुजफ्फरपुर मे राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व विधायक बिजेन्द्र चौधरी, मधुबनी मे प्रदेश अध्यक्ष विधायक समीर महासेठ, कटिहार मे पूर्व मंत्री रामप्रकाश महतो, बेलसंड मे पूर्व विधायक संजय गुप्ता ने काला दिवस मनाए ।
राष्ट्रीय वैश्य महासभा के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष पी के चौधरी ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के कारण लाॅक डाउन मे वैश्य समाज नें बिहार में इस संकट की घड़ी में सबसे अधिक राहत कार्य चलाया , परन्तु दुर्भाग्य है कि बिहार में पिछले 24 मार्च से लाॅक डाउन होने के बावजूद भिन्न भिन्न जिलों में वैश्य एवं व्यवसायी समाज के दर्जनों लोगों की हत्या, लूट, अपहरण एवं बलात्कार जैसी जघन्य घटनायें हुई है और लगातार जारी है, फलस्वरूप राज्य भर में भय का वातावरण बना हुआ है।
प्रदेश मुख्य प्रवक्ता शिवशंकर विक्रांत ने कहा कि आलम यह है कि सत्ताधारी दल जदयू व्यवसायिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष व अररिया चैम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष मूलचन्द गोलछा से 1 करोड़ की रंगदारी मांगी जाती है, बक्सर मे भाजपा नेता सुजीत गुप्ता की हत्या हो जाती है ।
ज्ञातव्य हो कि राष्ट्रीय वैश्य महासभा नें पिछले 17 मई को भी राज्य में बढ़ते अपराध के विरोध में उपवास कार्यक्रम करते हुए आक्रोश व्यक्त किया था। फिर भी राज्य की विधि-व्यवस्था में कोई सुधार नहीं हुई। चूँकि राज्य में अभी लाॅकडाउन जारी है, इसलिए राष्ट्रीय वैश्य महासभा बिहार अभी सड़क पर उतरकर आंदोलन करने की स्थिति में नहीं है।
ऐसे में राष्ट्रीय वैश्य महासभा बिहार नें लोकतांत्रिक व्यवस्था के तहत सरकार एवं प्रशासन के खिलाफ प्रतिकार करने का निर्णय लिया है।
ताकि वैश्य समाज की मजबूत एकता के बल पर कुम्भकरणी नींद में सोयी राज्य सरकार को जगाया जा सके । उसके बाद भी सरकार अंकुश लगाने में सक्षम नहीं होगी तो राष्ट्रीय वैश्य महासभा चरणबद्ध तरीके से आन्दोलन करेगी ।
काला दिवस कार्यक्रम में मुख्य रूप से राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सतीश गुप्ता, राष्ट्रीय महासचिव डॉ प्रेम गुप्ता, प्रदेश महासचिव सह प्रवक्ता कुमार सुंदरम , प्रदेश महासचिव कन्हैया पौद्दार, प्रदेश उपाध्यक्ष रितेश रंजन, प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील मित्तल, मीडिया प्रभारी जयकृष्ण भगत, प्रदेश महासचिव सन्नी गुप्ता, विश्वनाथ गुप्ता, कन्हैया अग्रवाल, राकेश जायसवाल, पटना जिला महासचिव सोनू पौद्दार शामिल थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed