जदयू कलमजीवी प्रकोष्ट मनाएगी पूर्व प्रधान मंत्री स्व.लालबहादुर शास्त्री जी कि जयंती :-डॉ धीरज सिन्हा - ApnaLive.News

जदयू कलमजीवी प्रकोष्ट मनाएगी पूर्व प्रधान मंत्री स्व.लालबहादुर शास्त्री जी कि जयंती :-डॉ धीरज सिन्हा

भारत के पू.प्रधानमंत्री स्व.लाल बहादुर शास्त्री जी की 114 वीं जयंती

भारत के पू.प्रधानमंत्री स्व.लाल बहादुर शास्त्री जी की 114 वीं जयंती

Spread the love

दिनांक 02.10.2018 को संध्या 5 बजे पटना के आई.एम.ए. हॉल (गांधी मैदान के समीप) में जदयू कलमजीवी प्रकोष्ठ द्वारा भारत के पू.प्रधानमंत्री स्व.लाल बहादुर शास्त्री जी की 114 वीं जयंती धूमधाम से मनाने जा रही है।

कार्यक्रम का उद्घाटन माननीय विधान पार्षद रणबीर नंदन जी करेंगे एवं मुख्य अतिथि कलमजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष श्री रणजीत सिन्हा जी होंगे। कार्यक्रम का आयोजन  कलमजीवी प्रकोष्ठ “जदयू” के डॉ. धीरज सिन्हा (अध्यक्ष -पटना महानगर) के द्वारा किया जा रहा है।

 

बताते चलें की लालबहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri) का जन्म 2 अक्टूबर 1904 मुगलसराय (उत्तर प्रदेश) में मुंशी शारदा प्रसाद श्रीवास्तव (Sharada Prasad Srivastava) के यहाँ हुआ। लालबहादुर शास्त्री की माँ का नाम श्रीमति रामदुलारी (Ramdulari Devi) था।

वह भारत के दूसरे प्रधानमन्त्री थे। वह 9 जून 1964 से 11 जनवरी 1966 को अपनी मृत्यु तक लगभग अठारह महीने भारत के प्रधानमन्त्री रहे। जवाहरलाल नेहरू का उनके प्रधानमन्त्री के कार्यकाल के दौरान 27 मई, 1964 को देहावसान हो जाने के बाद शास्त्रीजी को 1964 में देश का प्रधानमन्त्री बनाया गया।

उन्होंने 9 जून 1964 को भारत के प्रधान मन्त्री का पद भार ग्रहण किया। उनके शासनकाल में 1965 का भारत पाक युद्ध शुरू हो गया। शास्त्रीजी ने अप्रत्याशित रूप से हुए इस युद्ध में पाकिस्तान को करारी शिकस्त दी। इसकी कल्पना पाकिस्तान ने कभी सपने में भी नहीं की थी।

ताशकन्द में पाकिस्तान के राष्ट्रपति अयूब ख़ान के साथ युद्ध समाप्त करने के समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद 11 जनवरी 1966 की रात में ही रहस्यमय परिस्थितियों में उनकी मृत्यु हो गयी। उन्हे  भारत रत्न से भी नवाजा गया।

 

डॉ. धीरज सिन्हा जी को कार्यक्रम की सफलता के लिए “अपना लाइव न्यूज़” टीम की तरफ से अग्रिम शुभकामनायें।

 

1 thought on “जदयू कलमजीवी प्रकोष्ट मनाएगी पूर्व प्रधान मंत्री स्व.लालबहादुर शास्त्री जी कि जयंती :-डॉ धीरज सिन्हा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *